LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

शनिवार, नवंबर 12, 2011

अब मुकाबला ईडन गार्डन में


फिरोजशाह कोटला में भारतीय टीम को चौथे दिन जीत हासिल हुई. हालाँकि यह जीत उतनी आसानी से नहीं मिली, जितनी की परिणाम से दिख रही है. निस्संदेह भारतीय गेंदबाजों ने बहुत अच्छा कार्य किया. प्रज्ञान ओझा और अश्विन विशेष रूप से बधाई के पात्र हैं. अब दूसरा मुकाबला भारत के प्रसिद्ध मैदानों में शुमार ईडन गार्डन पर होने जा रहा है. भारतीय टीम यहाँ अजेय बढत लेने की सोच रही होगी. वेस्ट इंडीज की टीम ने दिल्ली के मैच में दिखाया कि क्यों उसे कमजोर टीम माना जाता है. टेस्ट मैच में लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होता है, आप चार पारियों में से एक में अच्छा प्रदर्शन करके नहीं जीत सकते. दूसरी तरफ मजबूत टीमें एक बुरी पारी को भी शेष पारियों के द्वारा छुपा जाती हैं. पहले मैच में यही दोनों बातें दिखी. वेस्ट इंडीज ने मैच की दूसरी पारी में शानदार प्रदर्शन करते हुए 95 रन की बढत हासिल की, लेकिन मैच की तीसरी पारी में वे बल्ले से प्रदर्शन नहीं कर पाए. परिणामस्वरूप भारत को वापिसी का मौका मिला.
              ईडन गार्डन पर भी भारतीय टीम वेस्ट इंडीज पर हावी रह सकती है. इंग्लैण्ड के खिलाफ अंतिम दो मैच इसी मैदान पर खेले गए. दोनों मैचों में स्पिनर काफी कामयाब रहे. अंतिम एक दिवसीय तो भारतीय स्पिनरों ने इंग्लैण्ड के हाथ से छीन लिया था. टी-20 में भले ही भारत जीत नहीं सका, लेकिन जडेजा और अश्विन ने काफी प्रभावशाली प्रदर्शन किया था. दूसरे टेस्ट मैच में अश्विन और ओझा अगर एक बार फिर वेस्ट इंडीज के बल्लेबाजों को नचा कर रख दें तो कोई हैरानी वाली बात नहीं होगी. वेस्ट इंडीज के पास सिर्फ देवन्द्र बिशु ही एकमात्र प्रमुख स्पिनर है और दिल्ली टेस्ट में वह बहुत प्रभावित नहीं कर पाया, विशेषकर अंतिम पारी में टीम को उससे बहुत उम्मीद थी. अगर  वह यहाँ भी अपने नाम के मुताबिक प्रदर्शन न कर पाया तो संभव है यह टेस्ट भी चौथे दिन ही भारत की झोली में आ गिरे.
                 भारतीय चयनकर्ताओं ने दूसरे टेस्ट मैच में कोई बदलाव नहीं किया. संभवत: अंतिम एकादश में भी कोई बदलाव दिखने को नहीं मिलेगा. सचिन, सहवाग, द्रविड़, लक्ष्मण, गंभीर के बल्ले से रन निकल रहे हैं और यह अच्छी खबर है. भारतीय टीम को वेस्ट इंडीज को पूरी तरह से ध्वस्त करना होगा. दिल्ली की जीत वैसी जीत नहीं जैसी की भारत जैसी मजबूत टीम की वेस्ट इंडीज जैसी अपेक्षाकृत कमजोर टीम के खिलाफ मिलनी चाहिए थी. देखते हैं कोलकाता टेस्ट में भारतीय टीम अपने पूरे रंग में आती है या नहीं.

                            * * * * *                          

3 टिप्‍पणियां:

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

अच्छा विश्लेषन ... अब देखते हैं अगलेरेस्ट मैच का हाल ..

Navin C. Chaturvedi ने कहा…

ummeed to jitne ki hi hai

Babli ने कहा…

क्रिकेट तो मेरा सबसे पसंदीदार खेल है ! देखते हैं क्या होता है ! शानदार विश्लेषण !

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...