LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

शुक्रवार, अक्तूबर 14, 2011

भारतीय टीम का शानदार आगाज़

India annihilate England in the first ODI
हैदराबाद में खेले गए प्रथम एकदिवसीय मैच में भारत ने इंग्लैण्ड को बुरी तरह से रौंद कर साबित कर दिया कि जिस प्रकार इंग्लैण्ड को इंग्लैण्ड में हराना मुश्किल था उसी प्रकार भारत को भारत में हराना मुश्किल है. भारत ने इस मैच में खेल के सभी विभागों में अच्छा काम किया. हालाँकि शुरुआत में ऐसा लगा था कि भारतीय टीम इंग्लैण्ड के दवाब से उबर नहीं पाई है, लेकिन रैना और धोनी की आतिशी पारियों ने भारत को मैच में मजबूती से स्थापित किया. भारतीय बल्लेबाजों ने तो इंग्लैण्ड में भी रन बनाए थे, इसलिए पहले हाफ की समाप्ति के बाद अनिश्चितता थी कि भारत जीत दर्ज़ कर पाएगा या नहीं, लेकिन इस बार गेंदबाजों ने अपनी भूमिका को बखूबी अंजाम दिया. फिरकी गेंदबाज़ जडेजा और अश्विन दोनों ने कमाल की गेंदबाज़ी की, और दोनों ने तीन-तीन विकेट झटके. तेज़ गेंदबाज़ उमेश यादव को भी दो विकेट मिले. 
                         भारतीय टीम ने इस श्रृंखला की शानदार शुरुआत कर दी है, लेकिन मंजिल अभी काफी दूर है. भारतीय टीम को सिर्फ श्रृंखला ही नहीं जीतनी अपितु इंग्लैण्ड का वही हश्र करना है जो इंग्लैण्ड ने अपनी जमीन पर भारत का किया था. भारत की इस श्रृंखला में जीत साबित कर देगी कि इंग्लैण्ड में भारतीय टीम पर इंग्लैण्ड की जीत श्रेष्ठता की जीत नहीं थी अपितु परिस्थितियों की जीत थी. जब परिस्थितियाँ इंग्लैण्ड के पक्ष में थी तब इंग्लैण्ड जीता और जब परिस्थितियाँ भारत के पक्ष की बनी तब भारत जीता. हालाँकि अभी कहना जल्दबाजी होगा कि भारत इंग्लैण्ड को श्रृंखला में बुरी तरह से हराएगा, लेकिन इतना निश्चित है कि भारत की जमीन पर भारतीय टीम एक अलग तरह की टीम है. भले ही यह अब भी अपने श्रेष्ठ खिलाडियों के बिना खेल रही है फिर भी इसमें जीतने का माद्दा है. हैदराबाद में खिलाडियों ने जो प्रदर्शन किया है अगर वे वैसा ही प्रदर्शन करते रहे तो निश्चित रूप से भारत इस श्रृंखला को बड़े अंतर से जीतेगा. 
                        पहले एकदिवसीय में भारतीय बल्लेबाजों ने 300  के आंकड़े को छुआ लेकिन उपरी क्रम में लडखड़ाहट थी. भारतीय टीम ने अपने पहले चार विकेट महज़ 123  रन पर खो दिए थे और उस समय लग रहा था कि भारतीय टीम 250 -260  रन बमुश्किल बना पाएगी. आगामी मैचों में इस बात पर ध्यान रखना होगा कि टीम को अच्छी शुरुआत मिले. रहाणे ने जो प्रदर्शन शुरूआती मैचों में दिखाया था वे वैसा प्रदर्शन बाद के मैचों में नहीं कर पाए. बड़े स्कोर के लिए जरूरी है कि टीम को सधी हुई शुरुआत मिले. आगामी मैचों में इस क्षेत्र में सुधार करते हुए इंग्लैण्ड का सफाया करने की कोशिश करनी होगी.

                              * * * * *           

3 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

देखो चूहा हो गया, अपने घर में शेर।
जब घर से बाहर गया, लिया श्वान ने घेर।।
--
आज का चर्चा मंच भी देख लीजिए!

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" ने कहा…

bahut acche tarike se is jeet ki jashna ka aanand uthya,,,dekhiye aage kya hota hai.. britaniyon ko bhi chathi ka dhudh yaad aa jaana chahiye

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" ने कहा…

jeet ke jashn ka pura aanand uthaya...dekhiye aage kya hota hai,..britaniyon ko bhi chathi ka doodh yaad aa jaana chahiye//sadar badhayee aaur amantran ke sath

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...