LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

रविवार, मार्च 13, 2011

गलतियों से सीखना होगा

भारतीय टीम बेशक क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुकी है लेकिन मजबूत टीमों से उसने दो मैच खेले हैं और एक भी नहीं जीता है . एक में उसे हार का सामना करना पड़ा तो दूसरा टाई रहा . द.अफ्रीका से हार बेहद निराशजनक है . अच्छी शुरुआत के बाद जिस तरीके से पारी सिमटी उस पर विचार करना ही होगा . पावर प्ले लेना गलत नहीं था क्योंकि सचिन-गंभीर अच्छा खेल रहे थे लेकिन विकेट गिरने के बाद नए बल्लेबाजों ने आते ही धूम-धडाका करना चाहा जो नहीं हो पाया , वो गलत था .आप कितने भी बड़े बल्लेबाज़ क्यों न हों बड़ी हिट लगाने के लिए पिच पर कुछ समय बिताना जरूरी होता है , इस बात को सभी खिलाडियों को समझना होगा .
         गेंदबाज़ी में द.अफ्रीका के खिलाफ भारत के पास श्रेष्ट आक्रमण था लेकिन वो तीन सौ  के लगभग स्कोर का भी बचाव नहीं कर पाए . आखिर मैच जीतने के लिए कितना बड़ा स्कोर सुरक्षित होगा ? बल्लेबाज़ हर बार चार सौ का स्कोर नहीं बना सकते , इस बात को ध्यान में रखना ही होगा . उन्हें अपनी ज़िम्मेदारी लेनी ही होगी .
         भारत का अगला मैच वेस्ट इंडीज से है . यह मैच भी आसन नहीं होगा . गेंदबाजों को लय में आने का अंतिम अवसर होगा . इस मैच में अश्विन को भी आजमा लिया जाना चाहिए , हो सकता है उसके आने से कोई परिवर्तन हो जाए . अगर गेंदबाज़ी इस मैच में भी पटरी  पर न लौटी तो विश्व कप जीतने का सपना सपना ही रह जाएगा . हालाँकि बल्लेबाजों को भी सबक लेने की जरूरत है लेकिन गेंदबाज़ी इस समय सबसे ज्यादा चिंता का विषय है . कमजोर गेंदबाज़ी ही उन पर बहुत बड़ा स्कोर बनाने का दवाब डालती है और परिणाम वही होता है जो द.अफ्रीका के खिलाफ हुआ . द.अफ्रीका के खिलाफ बल्लेबाज़ 370 का स्कोर मानकर चले होंगे इसी से गडबड पैदा हुई . इस गलती को दोबारा दोहराने से बचना होगा . अभी भी कुछ नहीं बिगड़ा . असली विश्व कप शुरू होने से पहले उन्हें एक मैच और खेलना है . देखना है टीम इण्डिया इस हार से क्या सबक सीखती है .    

1 टिप्पणी:

प्रवीण शाह ने कहा…

.
.
.
सहमत हूँ आपसे, यह सबक जल्दी से जल्दी लेना होगा व गल्तियाँ सुधारनी होंगी...


...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...